रत्न क्यों धारण करने चाहिए ?

जैसा की पहले विदित है की हर ग्रह का एक रत्न ,उपरत्न ,धातु निर्धारित है | ये रत्न जातक पर किसी भी ग्रह के प्रभाव को ज्यादा या कम करने में सहायक होते हैं | उदाहरण  के लिए , यदि किसी जातक की कुंडली में सूर्य पाप ग्रहों से दृष्ट होकर निर्बल हो जाता है तो उस समय सूर्य  ग्रह का रत्न उसको बल प्रदान करता है | इसी कार्य के लिए रत्न धारण किये जाते हैं |

Summary
रत्न क्यों धारण करने चाहिए ?
Article Name
रत्न क्यों धारण करने चाहिए ?
Description
जैसा की पहले विदित है की हर ग्रह का एक रत्न ,उपरत्न ,धातु निर्धारित है | ये रत्न जातक पर किसी भी ग्रह के प्रभाव को ज्यादा या कम करने में सहायक होते हैं |
Author
Publisher Name
Vastu Cosmos
Publisher Logo

Have a query related to Vastu ?