दो मुखी रुद्राक्ष

दो मुखी रूद्राक्ष भगवान शिव और देवी पार्वती के संयुक्त रूप का प्रतीक है। रूद्राक्ष के रूप में यह उसके पहनने के लिए एकता लाता है। यह रूद्राक्ष दो व्यक्तियों…

One Mukhi Rudraksha

This type of Rudraksha symbolizes Lord Shiva himself. Generally it comes in the shape of cashew nut or half moon. This is the supreme Rudraksha for anyone who want to…

एक मुखी रुद्राक्ष

इस प्रकार के रुद्राक्ष भगवान शिव खुद का प्रतीक है आम तौर पर यह काजू या आधा चाँद के आकार में आता है। यह उन सभी के लिए सर्वोच्च रूद्राक्ष…

रत्न क्या है?

रत्न धरती के गर्भ से उत्पन एक प्रकार के खनिज  पदार्थ हैं |  जो प्रकृति की गोद में भिन्न-भिन्न रूपों में पाए जाते हैं। दरअसल, ये भिन्न-भिन्न तत्वों के आपस…

North-East corner of house

NORTH EAST CORNER OF THE HOUSE / PROPERTY AS PER VASTU  NORTH EAST CORNER (FROM 200 TO 700) OF THE HOUSE / PROPERTY IS THE PLACE OF LORD OF THE…

एक्‍वामरीन

इसे हिंदी में बैरूंज कहते हैं लेकिन सामान्‍य रूप से यह सभी जगह ‘एक्‍वामरीन के नाम से ही जाना जाता है। इसके हल्‍के और समुद्री नीले रंग के कारण इसका…

ओपल

पश्चिम ज्‍योतिष के अनुसार ओपल तुला राशि का बर्थस्‍टोन है।जब कि वैदिक ज्‍योतिष इसे शुक्र (वीनस) ग्रह को मजबूती देने वाला रत्‍न मानता है।यह वृष (टॉरस) और तुला (लिब्रा) राशि…

सुलेमानी हकीक

सुलेमानी हकीक को चमत्कारी रत्न इसलिए कहा गया हे क्यूंकि  यह एक बेहद चमत्कारी नगीना है  इसलिए इसे सुलेमानी रत्न का नाम दिया गया हे शास्त्रो में बहुत से  रत्नों…

फिरोज़ा

ज्योतिष विज्ञान में फिरोज़ा को अंग्रेजी में टरक्वाइश (Turquoise) भी कहते हैं ।यह गहरे नीले रंग का रत्न होता है।इस रत्न को पहनने के लिए ज़्यादा सोचने-समझने की ज़रूरत नहीं होती…

चमत्कारी रतन टाइगर आई

ज्योतिष विज्ञान में फलित के बाद उपाय का स्थान सर्वश्रेष्ठ माना जाता है ।उपायों में एक है रश्मि विज्ञान, जिसे ज्योतिष विज्ञान में रत्न ज्योतिष विज्ञान कहते हैं ।रत्नों के…

केतु

ज्योतिष में केतु अच्छी व बुरी आध्यात्मिकता एवं पराप्रा कृति क प्रभावों का का र्मिक संग्रह का द्योतक है।केतु विष्णु के मत्स्य अवतार से संबंधित है।केतु भावना भौति की करण…

राहु

राहु एवं केतु (rahu ketu effects) छाया ग्रह कहे जाते हैं ।सूर्यादि अन्य ग्रहों के समान इन का स्वतंत्र पिंड और भार नहीं है , उनकी तरह ये दिखलाई भी…

शनि ग्रह

ज्योतिष शास्त्र में शनि ग्रह का विशेष स्थान है ।शास्त्रों में शनि को संतुलन व न्याय का ग्रह माना गया है ।कई ज्योतिश विदों ने शनि को क्रोधी ग्रह भी…

बुध ग्रह

बुध ग्रह के शुभ लक्षण : बुध ग्रह मिथुन तथा कन्या राशी का स्वामी हैं तथा इन दोनों राशियों पर ही इस ग्रह का शुभ एवं अशुभ प्रभाव पड़ता हैं |…

मंगल ग्रह

मंगल ग्रह के शुभ लक्षण : ज्योतिष में मंगल को क्रूर ग्रह माना गया है जिसका अर्थ अग्नि के समान लाल है , इसलिए इसे अंगारक भी कहते है | वे…

चंद्र ग्रह

ग्रहों में सबसे अधिक गति से चलने वाला चंद्रमा मन का प्रतिनिधित्व करता है| चन्द्र को काल पुरुष का मन कहा गया है| चन्द्र माता , मन, मस्तिष्क, बुद्धिमता, स्वभाव,…

सूर्य ग्रह

ज्योतिष में सूर्य को राजा की पदवी प्रदान की गयी है| ज्योतिष के अनुसार सूर्य आत्मा एवं पिता का प्रतिनिधित्व करता है| सूर्य द्वारा ही सभी ग्रहों को प्रकाश प्राप्त…

सेलेनाइट एक अदभुत पत्थर

दूषित ,पीड़ित चन्द्रमा के दोष में लाभकारी सेलेनाइट सबसे सुंदर और सबसे सुरुचिपूर्ण क्रिस्टल में से एक है  अपने प्राचीन सफेद रंग के साथ, यह विभिन्न रंगीन पत्थरों और क्रिस्टल…

Category of Posts

Want to check Vastu of your House ?
Download our App

Developed with ❤️ by Nutty Geek

×
×

Cart